शेखपुरा सदर अस्पताल में तैनात महिला गार्ड की लखीसराय में भाई के ससुराल में हत्या

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

शेखपुरा सदर अस्पताल में कार्यरत एक महिला गार्ड की हत्या उसके प्रेमी ने गला दबाकर कर दी और शव को मखदुमपुर स्थित मृतका के घर जाकर परिजनों को सौंप दिया। मृतका की पहचान मखदुमपुर निवासी धनेश्वर यादव की 30 वर्षीय पुत्री लवली कुमारी उर्फ राबड़ी के रूप में हुई। मृतक के शव को लेकर परिजन दाह संस्कार करने पटना जिला के मरांची घाट पहुंचे। जहां मृतका के भाई नीरज कुमार ने संदेहास्पद स्थिति में मौत को लेकर मरांची पुलिस को सूचित कर दिया। घटनास्थल पर पहुंची मरांची पुलिस ने मृतका के शव को जब्त कर पोस्टमार्टम हेतु बाढ़ स्थिति रेफरल अस्पताल भेज दिया। घटना को लेकर मृतका के भाई नीरज कुमार ने अपने साला लखीसराय जिला अंतर्गत अमहरा थाना क्षेत्र अंतर्गत कुरौता निवासी गुलशन कुमार के विरुद्ध प्राथमिक दर्ज कराई है।

पति से विवाद के कारण शेखपुरा में रह रही थी मृतका 

जानकारी के मुताबिक मृतक लवली कुमारी सदर अस्पताल में महिला गार्ड के रूप में कार्य कर रही थी। जिसकी शादी कई वर्ष पूर्व पिपरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत मोहनपुर गांव में हुई थी। पति से विवाद होने के कारण वह काफी वर्ष से शेखपुरा में रह रही थी। इसी दौरान उसका प्रेम-प्रसंग अपने भाई नीरज कुमार के साला गुलशन कुमार के साथ चलने लगा। गुलशन कुमार भी किराए का डेरा लेकर शेखपुरा में ही रहने लगा। इस दौरान लवली कुमारी ने गुलशन को 3 लाख रूपये आर्थिक मदद की। इसी बीच नीरज कुमार की शादी कही और तय हो गयी। इसी बात को लेकर लवली कुमारी शनिवार की रात कुरौता गांव पहुंची। जहां विवाद होने पर प्रेमी गुलशन कुमार ने लवली के दोनों बेटों के सामने ही गला दबाकर हत्या कर दी। वहीं घटना के संबंध में मरांची थाना अध्यक्ष गौरव ने बताया कि मृतका के 8 वर्षीय पुत्र अभिनव कुमार ने इस बात की गवाही दी है कि मां की हत्या उसके सामने ही की गई। हालांकि मदद के लिए बहुत चिखा लेकिन कोई बचाने नहीं आया।

 

ख़बरें और भी है—https://youtu.be/u5x695n8ABM?si=M__qySU7-QgeZwd8

Leave a Comment