शेखपुरा: फुलचोर में कुर्सी व माला फेंकने पर भीड़ ने FSL टीम को लात-घूसों से पीटा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अरियरी प्रखंड अंतर्गत फुलचोर गांव में उस वक्त भीड़ आक्रोशित हो गई जब उड़नदस्ता टीम ने बेवजह उसे तंग करने लगी एवं उसका वीडियो बनाने लगी। टीम के व्यवहार से गुस्साई भीड़ ने उड़नदस्ता टीम में शामिल पदाधिकारी देवराज वत्स को लात-घुसे से पिटाई कर दिया। साथ ही वीडियो रिकॉर्ड कर रहे वीडियोग्राफर से केमरा भी छीनकर तोड़ दिया। हालांकि इस दौरान मौके पर मौजूद रही स्थानीय पुलिस ने आक्रोशित भीड़ को शांत कर उड़नदस्ता टीम को वहां हटाया। स्थानीय लोगो के अनुसार उक्त सभी लोग एक जगह कुर्सी लगाकर महागठबंधन प्रत्याशी अर्चना रविदास का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान उड़नदस्ता टीम वहां पर पहुंची और कहा कि आदर्श आचार संहिता लागू है, इसलिए भीड़ नही जुटाए और महज 4 से 5 लोग ही रहे। उड़नदस्ता टीम की बातों को भीड़ ने अनसुनी कर दिया, जिसके बाद उड़नदस्ता टीम में शामिल अधिकारी ग्रामीणों को अपशब्द कहने लगे और कुर्सियां व माला छीनकर फेंकने लगे। जिससे भीड़ में शामिल रहे लोगों का गुस्सा भड़क गया और उड़नदस्ता अधिकारी की लात-घूंसे से पिटाई कर दिया। वहीं, स्थानीय लोगों ने कहा कि ऐसा लग रहा था कि उक्त अधिकारी किसी के बहकावे में आकर जान-बुझकर इस तरह का करतूत कर रहे थे, जिस वजह से भीड़ में शामिल लोगों ने हमला कर दिया। यदि आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा था तो उड़नदस्ता टीम के द्वारा वीडियो बनाकर प्राथमिकी दर्ज करना था न कि कार्यक्रम में व्यधान डालना था। इस वजह से भीड़ में शामिल रहे लोगों ने धक्का-मुक्की किया। इस मामले में उक्त अधिकारी के द्वारा महागठबंधन प्रत्याशी अर्चना रविदास के साथ-साथ स्थानीय विधायक विजय सम्राट, प्रकाश यादव, मो.सरफ़राज़ व मनोज कुमार के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराया है। इधर, ग्रामीण भी अधिकारी पर प्राथमिकी दर्ज करने की तैयारी में जुट गए है। ग्रामीणों ने बताया कि उड़नदस्ता टीम के अधिकारी देवराज वत्स किसी पार्टी विशेष के समर्थक है जिस वजह से इस तरह भीड़ से उलझ गए। जहां तक स्थानीय बिधायक और राजद प्रत्यासी अर्चना रविदास की बात है तो वह चुनाव लड़ रहे है वह ऐसी कोई हरकत नही करेंगे जिससे उसे परेशानी हो। इस मामले में एसडीपीओ अरविंद कुमार सिन्हा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है कि इस घटना के दोषी कौन है।

 

ख़बरें और भी है—https://youtu.be/-7K-hXThrUw?si=VMLmyQ2hOZFrJPwj

1 thought on “शेखपुरा: फुलचोर में कुर्सी व माला फेंकने पर भीड़ ने FSL टीम को लात-घूसों से पीटा”

Leave a Comment