शेखपुरा: नमाजियों के प्रति अपमान हिंसा के खिलाफ प्रतिवाद मार्च 

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

दिल्ली में नमाजियों के प्रति अपमान और हिंसा के खिलाफ भाकपा माले के राष्टव्यापी प्रतिवाद के तहत आज शेखपुरा में भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने नफरत व पुलिसिया बर्बरता पर रोक लगाओ, नफरत की राजनीति नहीं चलेगी आदि नारे लगाते हुए प्रतिवाद मार्च निकाला। प्रतिवाद मार्च भाकपा माले जिला सचिव कामरेड विजय कुमार विजय के नेतृत्व में मार्च दल्लू चौक से शुरू हुआ और जिला मुख्यालय शेखपुरा पर प्रतिवाद सभा आयोजित की गई, माले जिला सचिव ने कहा कि दिल्ली में नमाज पढ़ रहे युवकों पर जो पुलिसिया लात चली है। दरअसल वह बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर के बनाए गए संविधान पर हमला है। 2024 चुनाव के ठीक पहले इस तरह का सांप्रदायिक माहौल बनाकर भाजपा वोटो का ध्रुवीकरण करना चाह रही है। देश की जनता इसका जवाब देगी। आगे उन्होंने कहा कि नमाजियों को लात से मारना भाजपा की नफरत की राजनीति एवं उसके प्रचार प्रसार का परिणाम है। संविधान में भाईचारे व धर्म की आजादी की बात कही गई है, लेकिन आज इस संविधान को खत्म करने की साजिश चल रही है। मार्च में माले नेता कमलेश प्रसाद, राजेश कुमार राय, आइसा नेता मो.रिक्की खान, प्रवीन कुमार, माले नेता विशेश्वर महतो, प्रकाश रविदास, राकेश मांझी, उपेंद्र राम, जगदीश चौहान, महिला नेत्री तेतरी देवी, गौरी देवी, गिरजा देवी, सुदामा देवी सहित बड़ी संख्या में नेता व कार्यकर्ता शामिल थे।

Leave a Comment