शेखपुरा: राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना अंतर्गत दो बच्चों को मिली नई जिंदगी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना गरीबों के लिए वरदान के रूप में साबित हो रहा है। इस योजना अंतर्गत जिला के अरियरी प्रखंड दाउदपुर इटवा गांव के सोनू यादव की तीन वर्षीय पुत्री संध्या कुमारी एवं चेवाड़ा प्रखंड अंतर्गत पिंड शरीफ गांव के मो.सिकंदर हयात के 2 वर्षीय पुत्र मोहम्मद शिफान हयात को राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना कार्यक्रम अंतर्गत बच्चों को स्कैनिंग की गई थी, जिसमें बच्चों को हृदय संबंधित बीमारी का लक्षण पाया गया। अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.अशोक कुमार सिंह ने बताया कि दोनों बच्चे को इलाज के क्रम में डॉक्टर के द्वारा हृदय संबंधित बीमारी की पुष्टि होने के उपरांत मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना अंतर्गत राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार पटना के द्वारा हार्ट सर्जरी हेतु अहमदाबाद 8 अप्रैल को हवाई जहाज के माध्यम से भेजा गया, जहां दोनों का सफल हार्ट सर्जरी किया गया। दोनों वापस अपने-अपने गांव भी चले आए. दोनों के अभिभावक ने स्वास्थ्य विभाग के इस पहल की सराहना भी किया है।  बताते चले कि सरकार द्वारा जन्म से हृदय में छेद वाले बच्चों के समुचित इलाज के लिए प्रशांति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन अहमदाबाद को चिह्नित किया गया एवं 13 फरवरी, 2021 को इसके साथ सरकार ने एमयू हस्ताक्षरित किया। जिसमें राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना के तहत संचालित मेडिकल टीम के द्वारा बच्चों को स्कैनिंग की जाती है। दिल से संबंधित रोगी की पुष्टि होने के उपरांत मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के तहत मुक्त इलाज सरकार सरकारी खर्च के माध्यम से प्रशांति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन के अहमदाबाद में किया जाता है।जिसका लाभ उठाकर आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार के लोग अपने हृदय रोग से पीड़ित 1-18 वर्ष बच्चों का मुफ्त में इलाज कराते है,  जो हृदय रोग से पीड़ित बच्चों के लिए जीवनदायिनी योजना के रूप में देखी जा रही है।
खबरें और भी है—https://youtu.be/4sNJsODYzuY?si=ARcYqiUin8zPJCs0

सीपीआई के जिला सचिव पर बदमाशों ने चलाई गोली, बाल-बाल बचे

शेखपुरा: सीपीआई के जिला सचिव पर बदमाशों ने चलाई गोली, बाल-बाल बचे 

Leave a Comment