शेखपुरा: बालक नेशनल हैंडबॉल में बिहार को तीसरा स्थान, ट्रॉफी व मिला कांस्य पदक

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

विदिशा मध्य प्रदेश में 23 से 27 मार्च तक आयोजित 45वीं जूनियर बालक नेशनल हैंडबॉल प्रतियोगिता में बिहार टीम ने ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए पहली बार कांस्य पदक प्राप्त किया। बिहार ने अपने पूल के उत्तर प्रदेश, त्रिपुरा और असम को बड़े गोल के अंतर से पराजित कर पूल विनर बनकर प्री क्वार्टर में राजस्थान, जबकि क्वार्टर फाइनल में हरियाणा को 52-28 गोल के अंतर से पराजित कर सेमीफाइनल में जगह बनाया। सेमीफाइनल में दिल्ली के चक्रव्यूह में फंस कांस्य पदक अपने नाम किया। बिहार टीम को तीसरे स्थान की ट्रॉफी के कांस्य पदक देकर हैंडबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव प्रीतपाल सिंह सलूजा एवं अतिथियों ने सम्मानित किया। बिहार टीम के मैनेजर चन्दन कुमार, कोच संजीव के साथ सभी खिलाड़ियों के बेहतर तालमेल से पहली बार इस आयु वर्ग में पदक पाने से सभी उत्साहित है। बरबीघा का लाडला सत्यम कुमार भी इस टीम में शामिल था। 

अपनी प्रतिभा के बल पर खिलाड़ियों ने अपनी उपलब्धि की प्राप्त 

बिहार हैंडबॉल संघ के महासचिव ब्रजकिशोर शर्मा ने बताया कि टीम को लगातार प्रशिक्षण एवम पूरी टीम का बेहतर प्रदर्शन बिहार को पदक विजेता बनाया है। आचार्य गोपाल जी ने बताया सत्यम कुमार नेशनल रेफरी एवं जिला प्रशिक्षक बबलू कुमार की देखरेख में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा था और उसने अपनी प्रतिभा के बल पर उपलब्धि प्राप्त की। बिहार हैंडबॉल टीम के बेहतर प्रदर्शन पर चेयरमैन विधान परिषद इंजिनियर सच्चिदानंद राय, बिहार हैंडबॉल के अध्यक्ष पंकज कुमार, महासचिव ब्रजकिशोर शर्मा, उपाध्यक्ष आचार्य गोपाल जी, कोषाध्यक्ष त्रिपुरारी प्रसाद, संयुक्त सचिव संजय कुमार सिंह, शेखपुरा जिला हैंडबॉल संघ के अध्यक्ष विशाल, कोषाध्यक्ष जैनेंद्र कुमार संयुक्त सचिव यशपाल जी, आदर्श विद्या भारती के संजीव कुमार, डिवाइन लाइट पब्लिक स्कूल के सुधांशु शेखर, संत मैरी इंग्लिश स्कूल के प्रिंस पीजे इत्यादि ने खेल प्रेमियों को बधाई दी।  

Leave a Comment