शेखपुरा: फर्जी चेक बनाकर रिटायर्ड विद्युत कर्मी के खाते से साढ़े नौ लाख का किया अवैध निकासी, बैंक मैनेजर व कर्मी पर लगाया आरोप

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

जिले के बरबीघा बाजार स्थित बैंक ऑफ़ इंडिया की शाखा में एक रिटायर्ड बिजली विभाग के अपर सहायक विद्युत अभियंता के खाते से साढ़े नौ लाख रुपया की फर्जी चेक लगाकर अवैध निकासी कर ली गई है। मामले को लेकर पीड़ित मालदह गांव निवासी स्वर्गीय भोला सिंह के पुत्र रामाशीष प्रसाद सिंह ने बैंक मैनेजर और कर्मचारियों पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए मिशन ओपी थाना में मुकदमा दर्ज कराया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए पीङित रामाशीष प्रसाद सिंह ने बताया कि वर्ष 2002 में वे रांची से सहायक विद्युत अभियंता के पद से रिटायर हुए थे। उनका बरबीघा के बैंक आफ इंडिया शाखा में सेविंग अकाउंट है, जिसमें हर महीने पेंशन की राशि आती है। वे कभी-कभी पैसा निकालने के लिए बैंक जाते हैं। इसी का फायदा उठाकर बैंक मैनेजर, कैशियर और रोकड़ पाल की मिली भगत से हमारे खाते से गलत ढंग से अवैध निकासी करवा दिया गया है‌। मामले को लेकर उन्होंने पुलिस अधीक्षक से भी इस दिशा में उचित कार्रवाई करने की मांग की है। पीड़ित ने बताया कि 12 दिसंबर 2019 को बैंक ऑफ़ इंडिया बरबीघा की खाता (581610110001515) से ट्रांजैक्शन हेतु चेक संख्या 000016 का उपयोग किया था। बाद में पुनः उसी चेक संख्या 000016 से 17 अप्रैल 2023 को साढ़े नौ लाख रुपए की निकासी कर ली गई। उन्होंने बताया कि उक्त चेक किसी संत कुमार पांडेय नामक व्यक्ति के द्वारा अपने खाता संख्या 110019709640 (केनरा बैंक बुद्ध मार्ग पटना) में नेफ्ट के लिए बरबीघा के बैंक आफ इंडिया शाखा में प्रस्तुत किया गया था। इतनी बड़ी राशि का ट्रांजेक्शन होने के बावजूद बैंक के कर्मियों ने हमें फोन पर सूचित कर जानकारी लेना भी जरूरी नहीं समझा और खाते से ट्रांजैक्शन कर दिया गया। पीड़ित ने बताया कि कुछ दिन पहले जब मैं बैंक पैसा निकासी के लिए पहुंचा तो अपने खाते को अपडेट कराया था। उस समय इतनी बड़ी राशि का अवैध ट्रांजैक्शन देखकर होश उड़ गया। मामले को लेकर तुरंत बैंक मैनेजर से संपर्क साधा तो बैंक मैनेजर ने जनरल पदाधिकारी से बातचीत कर मामले का हल करने की बात कही थी। लेकिन 10 दिन से अधिक समय बीत जाने के बाद भी जब किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं हुई तो मजबूरन मुझे थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाना पड़ गया। बताते चले कि लगभग 2 वर्ष पहले भी बैंक आफ इंडिया की बरबीघा शाखा में एसकेआर कॉलेज के संचालित खाते से लोन चेक बनाकर 20 लख रुपए की एवरेज निकासी एक युवक द्वारा कर ली गई थी। इधर कुछ दिन पहले भी बरबीघा के माउर गांव निवासी गौतम कुमार नामक युवक के नाम पर ₹500000 का गलत ढंग से लोन कर देने का मामला भी प्रकाश में आया था।

Leave a Comment