SHEIKHPURA: नव विवाहित दंपतियों को मिली खुशियों की पोटली

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

स्वास्थ्य विभाग व सीश्री संस्था के सहयोग से अरियरी प्रखंड़ के APHC विमान में जनखंख्या पखवाड़े के अंतर्गत स्थानीय मुखिया के सहयोग से घर की दहलीज में रहने वाली नई विवाहित महिलाओं को आशा के सहयोग से इकट्ठा कर परिवार नियोजन विषयों पर जागरूक करते हुए परिवार नियोजन कीट (खुशियों की पोटली) का वितरण किया गया। इस दौरान पति को भी पत्नी के स्वास्थ्य का ध्यान, शादी के बाद पहला बच्चा दो साल के बाद व पहले और दूसरे बच्चे के बीच का अंतराल कम से कम तीन साल रखने, मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता के साथ ही कई महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। परिवार नियोजन के सभी साधन सभी स्वास्थ्य केन्द्रों व आंगनबाड़ी केंद्रों पर आयोजित होने वाली ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस आरोग्य दिवस में निःशुल्क उपलब्ध है। बढ़ती जनसंख्या पर रोक हेतु पुरुषों को भी जागरूक किया जाना जरूरी है। कार्यक्रम पदाधिकारी आकाश कुमार सिंह ने बताया कि नवविवाहित दंपतियों को ‘खुशियों की पोटली’ किट के रूप में खुशियों की सौगात दी गई है। इस कीट में कंघी, आइना, तौलिया, फोटो फ्रेम, माला, छाया, मैरेज रजिस्ट्रेशन फॉर्म, परिवार नियोजन लीफलेट, के साथ-साथ गर्भ निरोधक साधन में कंडोम, दैनिक-साप्ताहिक व आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां दी गई है।

स्वास्थ्य सम्बन्धित किसी प्रकार की सलाह हेतु 104 टोल फ्री पर लिया जा सकता है जानकारी

सीथ्री संस्था के जिला समन्वयक निलेश कुमार ने कहा कि लगातार बढ़ती जनसंख्या पर रोक हेतु परिवार नियोजन साधनों का उपयोग जरूरी है, इसलिए महिलाओं के साथ पुरुषों को भी जागरूक किया जाना जरूरी है। उन्होंने स्वास्थ्य सम्बन्धित किसी प्रकार की सलाह हेतु नजदीकी क्षेत्र की आशा और एएनएम के आलावा, स्वास्थ्य केंद्र के साथ ही राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा जारी टोल फ्री नंबर 104 पर भी नवदंपति किसी भी प्रकार की जानकारी कॉल करके प्राप्त कर सकते हैं। मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता घुरी यादव, एएनएम बेबी कुमारी, आशा मीरा कुमारी, निभा कुमारी, वार्ड सदस्य रिंकू कुमारी सीथ्री के प्रखंड समन्वयक दीपा भारती सहित अन्य मौजूद रहे।

Leave a Comment