शेखपुरा: बच्चों में रटने की जगह समझने की प्रवृत्ति की पाठ पढ़ाएंगे शिक्षक

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

भारतीय विज्ञान एवं शिक्षा अनुसंधान पुणे (IISER Pune) द्वारा STEM के तकनीकी एवं नवीनतम शैक्षणिक उपकरणों का उपयोग कर विद्यार्थियों में गणित एवं विज्ञान की अभिरुचि विकसित करने के उद्देश्य से राज्य के विज्ञान एवं गणित शिक्षकों को iRISE (इंस्पिरिंग इंडिया इन रिसर्च इनोवेशन इन STEM एजुकेशन) कार्यक्रम अंतर्गत 450 शिक्षकों को 03 दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा चुका है। प्रशिक्षण उपरान्त इन शिक्षकों द्वारा कक्षा में की गई गतिविधियों के आधार पर फ़ैज़-2 के 10 दिवसीय प्रशिक्षण IISER पुणे में दिया गया। फेज़-2 के प्रशिक्षित शिक्षक इनोवेशन चैंपियंस (I.Cs) के रूप मे जिलास्तरीय प्रशिक्षण संचालित करेंगे। iRISE परियोजना को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग- भारत सरकार, रॉयल सोसाइटी ऑफ केमिस्ट्री, ब्रिटिश काउंसिल, टाटा टेक्नोलॉजीज एवं टाटा ट्रस्ट द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है। अभी तक बिहार के 23 जिलों में उक्त जिला स्तरीय प्रशिक्षण दिया जा चुका है I इसी क्रम में बिहार शिक्षा परियोजना सभागार में जिले के 60 शिक्षकों का प्रशिक्षण 05 से 07 फरवरी 2024 की अवधि में संचालित किया जा रहा है। जिसका उद्घाटन एससीईआरटी के ज्वाइंट डायरेक्टर  रश्मिप्रभा  और IISER पुणे के टीम के द्वारा किया गया। प्रशिक्षण के दौरान गुणवत्ता शिक्षा संभाग प्रभारी, बिहार शिक्षा परियोजना शेखपुरा के  दिनेश कुमार और IISER पुणे से मोहम्मद तकी, अपर्णा दाते और पंकज यादव उपस्थित रहे। उक्त प्रशिक्षण इनोवेशन चैंपियंस (I.Cs)  हरेंद्र कुमार एवं संजीव कुमार रंजन द्वारा दिया जा रहा है। 

प्रशिक्षित सभी शिक्षक कहलाएंगे इनोवेशन कोच

उक्त प्रशिक्षण में रटने की जगह समझने की प्रवृति को प्राथमिकता दी गई है। बच्चों को आस -पास के परिवेश से जोड़कर दैनिक जीवन की घटनाओं का उदाहरण देकर विज्ञान और गणित की शिक्षा देने की बात कही गई है। iRISE का उद्देश्य विज्ञान और गणित के शिक्षकों के STEM के लिए गतिविधि शिक्षक प्रशिक्षण के माध्यम से शिक्षकों और छात्रों में आलोचनात्मक सोच और प्रयोगात्मक मानसिकता को प्रोत्साहित कर नवाचार और रचनात्मकता को बढ़ाना है। पूछताछ और गतिविधि- आधारित तथा विज्ञान एवं गणित को अंतर्विषयक (Interdicplinary) बनाकर बच्चों तक पहुँचाया जाय इसकी चर्चा की गई है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य राज्य के विद्यार्थियों का इंस्पायर अवार्ड्स-मानक में भी ज्यादा से ज्यादा नॉमिनेशन कराना है जो कि देश के बच्चों को नवाचार में बढ़ावा देने के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार की एक योजना है। प्रशिक्षित सभी शिक्षक इनोवेशन कोच कहलाएंगे एवं इस कार्यक्रम के तहत सभी को एक किट भी उपलब्ध कराया जाएगा जो विद्यालय में गतिविधि कराने हेतु शिक्षकों के लिए काफी मददगार साबित होगा l

 

JOB ALART…https://mahuaanewsbihar.com/job-camp-will-be-organized-in-shekhpura-shri-krishna-iti-you-will-get-job-on-the-spot/

Leave a Comment