शेखपुरा: कब है ईद ? जिला प्रशासन को भी नहीं है पता, रामनवमी को लेकर भी कोई दिशा निर्देश नहीं जारी 

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अपनी करतूतों से आए दिन शेखपुरा जिला प्रशासन की किरकिरी होती रहती है, बावजूद अपनी कार्यशैली में सुधार नहीं कर रही है। मंगलवार को जिले में शांतिपूर्वक एवं सौहार्दपूर्ण माहौल में ईद-उल-फितर पर्व को मनाये जाने हेतु जिला पदाधिकारी जे.प्रियदर्शनी एवं पुलिस अधीक्षक बलिराम चौधरी ने द्वारा जिले के जनप्रतिनिधियों एवं प्रबुद्ध लोगों के साथ शांति समिति की बैठक की। लेकिन डीपीआरओ के द्वारा जारी किए प्रेस विज्ञप्ति में किस दिन ईद-उल-फितर पर्व मनाया जाएगा, इसकी जानकारी नहीं दी, शायद उन्हें भी जानकारी नहीं है। हद तो यह हो गई कि रामनवमी त्योहार को लेकर किसी तरह की गाइडलाइन नहीं जारी किया है। बता दें कि वर्ष 2018 में प्रशासनिक चूक के कारण शेखपुरा रामनवमी जुलूस में पथराव होने के बाद स्थिति भयावह हो गई थी, इसी दौरान भीड़ ने कई पुलिस वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया था, इस दौरान भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने कई चक्र गोलियां चलानी पड़ी थी। स्थिति को अनियंत्रित होते देख पूरे जिले में इंटरनेट की सुविधा बंद कर दी गई थी। हालांकि बाद में जैसे तैसे स्थिति पर नियंत्रण पाया गया था। यह सब स्थिति पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज होने के बाद हुई थी। बहरहाल पूर्व की घटना को देखते हुए जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन को सबक लेना चाहिए। हालांकि ईद पर्व कब है इसकी जानकारी अधिकारियों द्वारा नहीं उपलब्ध कराई गई है। गौरतलब हो कि जिले में 11 अप्रैल को ईद-उल-फितर पर्व एवं 17 अप्रैल को रामनवमी पर्व है। 
54 प्रमुख स्थानों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति 
ईद पर्व को लेकर जिले 54 प्रमुख स्थलों को चिह्नित कर दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। साथ ही सभी थाना के अध्यक्षों को भी अपने-अपने क्षेत्र में लगातार भ्रमणशील रहने एवं सतत निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं संबंधित थानाध्यक्ष को अपने-अपने प्रखंड स्तर पर विधि व्यवस्था का संपूर्ण प्रभारी बनाया गया है जो अपने क्षेत्र में भ्रमणशील रहते हुए विधि व्यवस्था की  स्थिति पर कड़ी निगरानी  रखते हुए  समय-समय पर इसकी स्थिति से जिला प्रशासन शेखपुरा को भी अवगत कराते रहने का निर्देश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को विधिव्यवस्था के संपूर्ण प्रभार में रहेंगे, जबकि अपर समाहर्ता एवं पुलिस उपाधीक्षक (मु०) विधि व्यवस्था के वरीय प्रभार में रहेंगे। विधि व्यवस्था संबंधी किसी भी प्रकार की सूचना के लिए जिला स्तर पर जिला प्रोग्राम पदाधिकारी के प्रभार में नियंत्रण कक्ष (दूरभाष संख्या- 06341-223333) स्थापित किया गया है, जो 24 घंटा संचालित रहेगा। डीडीसी इसके वरीय प्रभार प्रभार में रहेंगे। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र का दैनिक खैरियत प्रतिवेदन से प्रतिदिन 03.00 बजे एवं 06.00 बजे तक जिला नियंत्रण कक्ष को सूचित करते हुए अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शेखपुरा को भी उपलब्ध करायेंगे। जिसे समेकित कर जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक शेखपुरा को भी अवगत कराने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Comment