शेखपुरा: नारायणपुर मौजा की भूमि अब आवासीय व व्यवसायिक श्रेणी में आएगा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

बरबीघा नगर परिषद के सभा कक्ष में सभापति सोनू कुमार की अध्यक्षता में विशेष बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपसभापति निधि कुमारी, पूर्व सभापति सह वार्ड पार्षद रौशन कुमार समेत सभी वार्ड पार्षद मौजूद रहे। बैठक में मौजा नारायणपुर के किसानों को उचित मुआवजा मिलने पर चर्चा किया गया। इस संबंध में पूर्व सभापति रौशन कुमार ने बताया कि अधिसूचित क्षेत्र समिति बरबीघा का गठन 1974 ई.में हुआ था और उसी समय से मौजा नारायणपुर शहरी क्षेत्र में सम्मिलित है, शहरी क्षेत्र गठन तभी होता है जब अधिकांश क्षेत्र आवासीय या व्यावसायिक रूप से उपयोग में लाया जाता है। तभी इसे नगर पालिका श्रेणी में रखा गया, चुंकि नारायणपुर मौजा का लगभग 50 वर्ष शहर में शामिल है। इस क्षेत्र में कई सरकारी भवन व आवासीय भवन बना हुआ है तथा कई मुख्य सड़क गुजरती है। इसलिए नगर परिषद द्वारा निर्णय लिया गया है कि उपरोक्त भूमि को रेलवे द्वारा अधिग्रहित भूमि आवासीय एवं व्यवसायिक श्रेणी में ली जाती है एवं यहां के लोगों को उपरोक्त सभी भू स्वामी को आवासीय श्रेणी का मुआवजा का लाभ मिले। इस संबंध में जिला पदाधिकारी शेखपुरा एवं माननीय लारा कोर्ट मुंगेर को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया है। गौरतलब हो कि बरबीघा नगर परिषद के मौजा नारायणपुर के किसान प्रस्तावित बरबीघा दनियावां रेल खंड पर अधिग्रहित भूमि के उचित मुआवजा को लेकर विगत 23 दिसंबर से अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे हुए हैं।

Leave a Comment