Helth News: स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में टीबी के मरीजों को चिह्नित करने का दिया निर्देश

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

गुरुवार को जिला समाहरणालय के मंथन सभागार में स्वास्थ्य विभाग से संबंधित समीक्षा बैठक डीडीसी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। उक्त बैठक में सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि जिले में आयरन, कैल्शियम एवं एल्बेंडाजोल की गोली भरपूर मात्रा सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध करा दिया गया है। एएनसी पंजीकरण मई 2024 तक बढ़कर 92.01 प्रतिशत हो गया है जो पिछले माह तक 80.95 प्रतिशत था। घाटकुसुम्भा उप स्वास्थ्य केंद्र एएनसी पंजीकरण का प्रतिशत कम रहने पर प्रभारी पदाधिकारी घाटकुसुम्भा सुधार हेतु निर्देश दिया गया। डीडीसी द्वारा लोक स्वास्थ्य संस्थानों में संस्थागत प्रसवों को और बढ़ाने का निर्देश दिया गया है और धात्री महिला के लिए विशेष प्रकार की व्यवस्था सभी पीएचसी प्रभारी को करने का निर्देश दिया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बरबीघा प्रभारी को सी-सेक्शन डिलीवरी हेतु विशेष ध्यान देने को कहा गया। जिलान्तर्गत सभी उप स्वास्थ्य केंद्र में मंगलवार के दिन सभी पीएचसी प्रभारी अपने स्तर से हेल्थ मैनेजर, सीडीपीओ, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी के स्तर पर बैठक का आयोजन करने एवं अधिक से अधिक कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर पोषण पुनर्वास केंद्र में उचित देखभाल हेतु लाने को कहा गया। आशा कार्यकर्ताओं के कार्यों के प्रति सप्ताह समीक्षा भी करें। जिले में टीवी मरीजों के पहचान हेतु निरंतर जांच अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें मई 2024 में 85.34 प्रतिशत है।

टीकाकरण पर विशेष ध्यान देने का निर्देश 
एनीमिया मुक्त भारत अभियान के तहत जिले में सभी उप स्वास्थ्य केंद्र में अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण पर विशेष ध्यान दें और अधिक से अधिक लोगों को आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी सेविकाओं समन्वय स्थापित कर पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने को कहा गया। महिला नसबंदी कराने हेतु सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को महिलाओं को विशेष सुविधा देकर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराने का निर्देश दिया गया है। जिले के सभी उप स्वास्थ्य केंद्रों में मई 2024 तक 4554 एक्सरे किया गया है। डीडीसी ने सभी चिकित्सा पदाधिकारी/कर्मी को ससमय कार्यालय में उपस्थित होने का भी निर्देश दिया एवं लक्ष्य के अनुरूप कार्य भी करने को कहा ताकि आम लोगों को ससमय स्वास्थ्य संबंधी देखभाल हो सकें। चिकित्सा पदाधिकारी /कर्मी कार्य में लापरवाही बरतेंगे उनके ऊपर कार्रवाई की जायेगी। 
सर्वे कार्य को ससमय पूर्ण करने का निर्देश
महादलित टोलों में सर्वे का कार्य चल रहा है जिसको ससमय पूर्ण करने का भी निर्देश दिया गया है ताकि स्वास्थ्य में सुधार हो तथा स्वास्थ्य का ससमय मिल सकें। सभी सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी को अनिवार्य रूप से प्रतिदिन स्वास्थ्य आंकड़ों का प्रतिवेदन से अवगत कराने को कहा गया है साथ ही टेली काउंसलिंग सेवा को और बढ़ाने का निर्देश दिया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन, डाॅ.अशोकसिंह, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, डीपीएम स्वास्थ्य, पीरामल, यूनिसेफ सदस्य के साथ साथ अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थें।

LATEST NEWS: रक्तदान में जो संतोष है, वह किसी दान में नहीं: डॉ अशोक

LATEST NEWS: रक्तदान में जो संतोष है, वह किसी दान में नहीं: डॉ अशोक

Leave a Comment