शेखपुरा-ससबहना मार्ग पर ट्रकों का परिचालन बंद, पहाड़ कम्पनियों का लाखों नुकसान

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

रविवार को शेखपुरा-ससबहना मुख्य मार्ग पर वृन्दावन गांव में ट्रक से कुचलकर एक 5 वर्षीय बच्ची की मौत से ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार तक इस मार्ग पर ट्रकों के आवागमन पर पुरी तरह से रोक लगा दिया है। जिससे हजारों ट्रकों के पहिए की रफ्तार थम चुकी है। घटना के बाद दो दिनों से धनकौल मोड़ से वृन्दावन तक ट्रकों का लम्बा काफ़िला लगा हुआ है। जिस पर सवार चालक और खलासी को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में ट्रक चालक धर्मेंद्र यादव, गोपाल महतो, रोशन मंडल आदि ने बताया कि सड़क किनारे खड़े वाहनों पर ही हमलोगों को रहना पड़ रहा है। जिससे खाना बनाने और खाने के लिए लंबी दूरी तय करके पानी लाना पड़ रहा है। सुनसान सड़क पर पुरी रात बितानी पड़ रही है। वहीं चांदी गांव स्थित पहाड़ में पत्थर उत्खनन में लगे कंपनी राजा कंस्ट्रक्शन के मैनेजर नीरज कुमार ने बताया कि दो दिनों से ट्रकों का परिचालन बंद रहने के कारण कंपनी के साथ-साथ सरकार को भी लाखों रूपए राजस्व की हानि हो रही है। वही पत्थर उत्खनन कार्यों में लगे मजदूरों को भी पाई-पाई के लिए मोहताज होना पड़ रहा है। वहीं, पूछे जाने पर कसार थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि सड़क दुर्घटना में ट्रक की चपेट में आकर अजय राम की 5 वर्षी पुत्री प्रीती कुमारी की मौत हो गई थी। जिससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। ट्रक या चालकों की सुरक्षा को देखते हुए ट्रक का परिचालन बंद किया गया है। मंगलवार को वृंदावन गांव के ग्रामीण एवं प्रशासन के बीच बैठक कर मामले को सुलझा लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…https://mahuaanewsbihar.com/shabnam-lata-handed-over-certificates-to-55-women-who-received-sheikhpura-training/

Leave a Comment